Home / शिक्षाप्रद कहानियाँ (page 4)

शिक्षाप्रद कहानियाँ

उत्कृष्ट हों गुण

संत कबीर से एक बार किसी ने पूछा,कबीर जी, कृपया बताएं कि मुझे इसजीवन में गृहस्थ बनना चाहिए या फिर संन्यासी? कबीर ने कहा, तुम जो कुछ भी बनो, उसमें पूर्णता पाने का प्रयास करो। इतना कहते ही कबीर ने अपनी पत्नी कोआवाज दी। दोपहर का समय था, फिर भीउन्होंने …

Read More »

सीखना है काम

एक ऑफिस में एक ही वर्क प्रोफाइल पर दो लोग नियुक्त हुए- निपुण और उदय। निपुण की डिग्रीज, प्रशिक्षण और अनुभव से ऑफिस में बहुत लोग प्रभावित थे, जबकि ठीक-ठाक पढ़़े उदय को किसी भी अन्य आम कर्मचारी की तरह ही देखा जाता। निपुण की पिछली योग्यताओं को देखते हुए …

Read More »

सही नहीं है अति

एक दाशर्निक के पास रोज बहुत लोग परामशर् लेने आते थे। लोग अपनी पारिवारिक उलझनें बताते और उनका समाधान पूछते। एक दिन एक व्यक्ति अपनी पत्नी के साथ आया और पत्नी के आलस्य और कम्जूसी की निंदा करने लगा। दाशर्निक ने उस महिला को स्नेहपूवर्क अपने पास बुलाया। फिर उन्होंने …

Read More »

अच्छे बने रहें Hindi Motivational Story हिंदी कहानी

अच्छे बने रहें एक बार स्वामी दयानंद सरस्वती गंगा के किनारे रुके हुए थे। वहीं पास में एक साधु भी रुका था, जो स्वभाव से गुस्सैल था।एक दिन वह स्वामी दयानंद से नाराज हो गया। अब वह रोज उनकी कुकटिया के बाहर जाता और उनके बारे में अपशब्द बोलता। स्वामी …

Read More »